When and Why Diwali is celebrated in Hindi दिवाली कब और क्यों मनाई जाती है हिन्दी में

0
When and Why Diwali is celebrated in Hindi

रोशनी और खुशियों का त्योहार दीपावली क्यों मनाई जाती है

दीपावली का अर्थ है दीपों की माला है  इसे रौशनी का त्यौहार भी  कहा जाता है। यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत एक  प्रतीक माना  जाता है। क्या आप जानते हैं दोस्तों कि दिवाली कब और हम क्यों मनाते है? इस आर्टिकल में हम दीपावली क्यों मनाई जाती है उसके बारे में बतायेगे  (When is Diwali and Why Celebrated in Hindi)

दिवाली हिन्दुओं का सबसे खास त्यौहार  माना जाता है जो बुराई पर अच्छाई की जीत,  की तरफ ले जाता है  और अँधेरे  पर रौशनी की चमक और जीवन में निराशा को छोड़कर जाता है अगर आप कोंई स्कूल के छात्र हैं  तो और आपको दिवाली पर निबंध चाहिए तो हमने आपके लिए  नीचे वाले आर्टिकल में आपको दीपावली पर बेस्ट हिंदी निबंध मिल जाएंगे।

 दीपावली क्यों मनाई जाती है –  why is diwali celebrated

When and Why Diwali is celebrated in Hindi- why is diwali celebrated

रामायण में बताया है कई जब भगवान श्री राम लंक के राजा रावण का वध पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण  के अयोध्या वापस आ रहे थे तो पूरी अयोध्या में खुशी की लहर जग उठी थी भगवान श्री राम 14 वर्ष के वनवास के बाद अयोध्या में दीपावली मनाई जाती है तब से  पुरे  भारत वर्ष दीपावली मनाई  जाती है

 यह दीपावली  त्योहार कार्तिक मास की अमावस्या के दिन मनाया जाता है। यह त्योहार सभी धर्म के लोग मनाते हैं खुशी से  इस त्योहार के आने के कई दिन पहले से ही घरों की साफ सफाई सजावट शुरू हो जाती है। और पहनने के लिए नए कपड़े बनवाए जाते हैं, मिठाइयां भी तैयार की  जाती हैं। इस दिन सभी घरो में  देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है इसलिए उनके आगमन और स्वागत के लिए घरों को अच्छी तरह   सजाया जाता है। (When is Diwali and Why Celebrated in Hindi)

भारत त्योहारों का देश है, हर प्रकार के त्योहार पूरे साल ही आते रहते हैं लेकिन दीपावली सबसे बड़े त्योहारों में से एक मानी जाती  है। यह त्योहार  5 दिन तक चलता है। इस त्योहार का सभी को इंतजार रहता है। उत्सव की  तैयारियां कई दिनों पहले से ही शुरू हो जाती है।

 माता लक्ष्मी की आराधना- Worship of Goddess Lakshmi

When and Why Diwali is celebrated in Hindi- Worship of Goddess Lakshmi

हिंदू धर्म में धन-संपदा माता लक्ष्मी देवी के नाम से जानाजाता  है। ऐसे में भारत वर्ष में कई लोग अपने सुखों की प्राप्ति के लिए दीपावली के दिन माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं। ऐसा बोला  जाता है कि इसमें माता लक्ष्मी  खुद भक्तों के घर आती है। भक्त माता लक्ष्मी को प्रशन करने के लिए मुख्य द्वार को , रंगोली से सजाते हैं। साथ ही सनातन धर्म में स्वास्तिक चिन्ह को बहुत शुभ माना जाता है दिवाली के दिन मुख्य द्वार पर स्वास्तिक चिन्ह भी बनाया जाता  है। कहा जाता है स्वास्तिक चिन्ह बनाने से भक्तों पर माता लक्ष्मी की विशेष कृपा बरसती है और घर में सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। (When is Diwali and Why Celebrated in Hindi)

 दिवाली कब है? – When is Diwali?

When and Why Diwali is celebrated in Hindi- When is Diwali

 इस त्योहार की तारीख हिंदू चंद्र कैलेंडर द्वारा गणना की जाती है। इसलिए दिवाली की तारीख हर साल बदलती रहती है।

इस साल दिवाली 2023 में 12 नवंबर को मनाई जाएगी।

दीपावली से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण – Some important things related to Diwali

 दिवाली के दिन सभी लोग अपने घरों में कुबेर और माता लक्ष्मी तथा गणेश भगवन की स्थापना कर पूरे विधि-विधान से उनकी पूजा करते हैं।

लोगों के द्वारा ऐसा भी कहा जाता है कि अगर कोई सच्चे दिल से दिवाली के दिन माता लक्ष्मी जी की पूजा करता है तो उसके घर में धन की कमी  और ख़ुशी और शांति बनी रहती है।

दिवाली का त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत के उपलक्ष में पूरे  भारत वर्ष में ख़ुशी से  मनाया जाता है।

यह महोत्सव लोगों को याद दिलाता है कि बुराई कितनी भी ताकतवर क्यों ना हो लेकिन  सच्चाई की हमेशा जीत ही  होती है.

इस दिन लोग एक-दूसरे को उपहार देते हैं तथा मिठाइयां खिलाकर खुशियां बांटते हैं।

कार्तिक पूर्णिमा की अमावस्या को मनाए जाने वाले इस पर्व की रात लोग दिए जलाते है और आतिशबाजी करते हैं।

दीपावली का दिन सिख धर्म के लोगों के लिए क्यों महत्वपूर्ण है? –   Why is the day of Diwali important for the people of Sikhism

Why is the day of Diwali important for the people of Sikhism

 सिख समुदाय के लोगों के लिए दीपावली का दिन इसलिए महत्वपूर्ण  माना जाता है क्योंकि इस दिन मुगल बादशाह ने के छठवें गुरु गोविंद सिंह को अपनी कैद से बहर  आजाद किया था उसके बाद सिख समुदाय के लोगों ने अपने गुरु की आजादी की याद में दीपावली का उत्सव  मानते हैं।

 आशा है कि रोशनी का यह पवित्र त्यौहार दुनिया के हर कोने में शांति और सम्रद्धि का उजाला भर देगा। हमारी शुभकामना है कि यह दिवाली नए सपने, नई उम्मीदें लेकर आएगी और सबकुछ चमकदार और सुंदर बना देगी।

 आशा करता हूँ आपको मेरे अर्टिकले पसंद आया हो हमारी शुभकामना है कि यह दिवाली नए सपने, नई उम्मीदें लेकर आएगी और सबकुछ आपके जीवन में अच्छा क्र देगी।

  Read more :  Home remedies for itchy skin | त्वचा में खुजली के घरेलू उपाय

लाखों में सिर्फ एक इंसान के पैरों में होता है यह खास निशान

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed